". Rajasthan Preparation: राजस्थान का इतिहास

Ads block

Banner 728x90px
Showing posts with label राजस्थान का इतिहास. Show all posts
Showing posts with label राजस्थान का इतिहास. Show all posts

राजस्थान मे मराठा


राजस्थान में मराठा औरंगजेब (1707 ई.) की मृत्यु के बाद मुगल साम्राज्य धीरे-धीरे पतन हो गया इस बीच, मराठा पेशवा अपने सक्षम नेतृत्व में अपनी शक्ति को मजबूत और बढ़…
Read more »

भरतपुर का जाट वंश


भरतपुर का जाट वंश औरंगजेब के शासनकाल मे 1669 मे मथुरा क्षेत्र मे गोकुल के नेतृत्व मे जाटो ने औरंगजेब का विद्रोह शुरू किया, गोकुल की मृत्यु के बाद राजाराम ने ने…
Read more »

बीकानेर का राठौड वंश


बीकानेर का राठौड वंश  राव बीका (1465-1504) यह मारवाड के राव जोधा के पुत्र थे। करणी माता के आशीर्वाद एवं जाट सरदार नरा के सहयोग से इन्होने बीकानेर मे नए राज्य क…
Read more »

मारवाड़ का राठौड वंश


मारवाड़ का राठौड वंश  उत्पत्ति  जोध राज्य की ख्याल मे राठौडो की उत्पत्ति विश्वुत्मान के पुत्र ब्रिहदबल से माना है। गोपीनाथ शर्मा के अनुसार राठौड़ वंश की उत्पत्…
Read more »

राजस्थान के प्रजामंडल आंदोलन


राजस्थान के प्रजामंडल आंदोलन जयपुर प्रजामंडल 1931 जयपुर प्रजामंडल में जन जागरण का श्रेय अर्जुन लाल सेठी को दिया जाता है। 1922 में जयपुर प्रजामंडल में हिंदी को…
Read more »

आमेर का कछवाहा वंश


आमेर का कच्छवाहा वंश 1612 आमेर शिलालेख एवं सुर्यमल्ल मिश्रण के अनुसार कच्छवाहा वंश के शासक सुर्यवंशी है, इनकी उत्पत्ति भगवान राम के पुत्र कुश से हुई है। दुल्हे…
Read more »

मेवाड का इतिहास (History of mewar)


मेवाड का इतिहास  गुहिल वंश यह एकमात्र ऐसा वंश था जिसने सर्वाधिक समय तक एक ही स्थान पर शासन किया। गुहिलवंशी अपने आप को सूर्यवंशी मानते हैं। गोपीनाथ शर्मा, डीआर …
Read more »

चौहान वंश


चौहान वंश - अजेमर, रणथंभौर, जालौर, सिरोही व हाड़ौती जयानक की पृथ्वीराज विजय के अनुसार चौहान वंश की स्थापना चाहमान ने की। अजेमर के चौहान वंश वासुदेव चौहान (5…
Read more »

राजपूतो की उत्पत्ति व गुर्जर प्रतिहर वंश


राजपूतो की उत्पत्ति व गुर्जर प्रतिहर वंश राजपूतों की उत्पत्ति विदेशियों की संतान कर्नल जेम्स टॉड - इन्होने राजपूतों को शको की सिथियन जाति से उत्पन्न माना है। ह…
Read more »

राजस्थान के किसान आन्दोलन


राजस्थान के किसान आन्दोलन बिजोलिया (भीलवाड़ा) किसान आंदोलन -1897-1941 तत्कालीन महाराणा - फतहसिंह  बिजौलिया के ठिकानेदार - कृष्णसिंह आंदोलन का कारण - अत्यधिक कर…
Read more »