". वायुमंडल ~ Rajasthan Preparation

वायुमंडल


वायुमंडल (Atmosphere)

  • किसी भी ग्रह के चारों और पाये जाने वाला गेसों एवं धूलकणो के घेरे को वायुमंडल कहा जाता है।

वायुमंडल के कार्य

  • वायुमंडल मे विभिन्न गैसे पाई जाती है जो जीवन के लिए आवश्यक है।
  • वायुमंडल में जलवाष्प पाया जाता है जो वर्षा के लिए उपयोगी है।
  • वायुमंडल में हरित गैसे पाई जाती है जो पृथ्वी का औसत तापमान बनाए रखने में सहायक होती है।
  • वायुमंडल उल्का पिंडों को पृथ्वी तक पहुंचने से रोकता है।
  • वायुमंडल पराबैंगनी किरणों (Universal Radiation) को पृथ्वी तक पहुंचने से रोकता है।
  • वायुमंडल रेडियो तरंगों को परिवर्तित करता है जिससे ही दूरसंचार संभव है।

वायुमंडल के घटक/तत्व

नाइट्रोजन(N2) -78%

  • पृथ्वी के वायुमंडल में सर्वाधिक मात्रा नाइट्रोजन की है।
  • राइजोबियम जीवाणु नाइट्रोजन को मिट्टी में संलग्न करता है।
  • इससे पेड पौधे राइजोबियम प्रोटीन का निर्माण करते है।
  • यह आग को तेजी से फैलने से रोकती है।
  • यह रंगहीन, गंधहीन व स्वादहीन गैस है।
  • रंगमंच पर कृत्रिम धुए का निर्माण करने के लिए भी नाइट्रोजन का प्रयोग किया जाता है।

ऑक्सीजन (O2) -21%

  • यह जीवनदायिनी गैस है।
  • यह आग जलाने मे सहायक होती है।
  • यह वस्तुओं को सडने मे सहायता करती है।
  • नाइट्रोजन व ऑक्सीजन वायुमंडल के स्थायी तत्व है इनकी मात्रा में वृद्धि एवं कमी नही होती है।

ऑर्गन - 0.93%

  • यह वायुमंडल में सर्वाधिक मात्रा मे पाई जाने वाली अक्रिय गैस है।
  • इसका उपयोग ट्युबलाइट व विद्युत बल्ब मे किया जाता है।

कार्बन डाई ऑक्साइड- 0.03%

  • इसकी सहायता से पेड़ पौधे प्रकाश संश्लेषण की क्रिया करते है।
  • यह आग बुझाने मे सहायक होती है।
  • यह हरित ग्रह प्रभाव के लिए उत्तरदायी है।

अन्य गैसे व जलवाष्प - 0.04%

हाइड्रोजन

  • यह सबसे हल्की गैस है।
  • यह ब्रह्माण्ड में सर्वाधिक मात्रा मे पाई जाने वाली गैस है।

हीलियम 

  • यह दुसरी सबसे हल्की गैस है किंतु अक्रिय गैसो मे यह सबसे हल्की गैस है।
  • यह ब्रह्माण्ड में दुसरी सर्वाधिक मात्रा मे पाई जाने वाली गैस है।
  • इसे हवाई जहाज के टायरो में भरा जाता है।

ओजोन गैस

  • यह समताप मंडल मे पाई जाती है।
  • यह पराबैंगनी किरणों को अवशोषित करती है।

मीथैन

  • इसे मार्स गैस एवं बायोगैस भी कहा जाता है।

रेडाॅन 

  • यह सबसे भारी गैस होती है।
  • यह सामान्यतः मिट्टी में पाई जाती है।
  • वायुमंडल में इस गैस का बढना भूकम्प का संकेत होता है ।

जलवाष्प 

  • यह वायुमंडल का सबसे अस्थिर घटक है।
क्योटो प्रोटोकोल - 1997 जापान  मे ग्रीन हाउस गैस के उत्सर्जन को कम करने हेतु इसका आयोजन हुआ।

मार्शल एवं निकोलस ने वायुमंडल को दो भागों में वर्गीकृत किया है।

1) सम मंडल - पृथ्वी से 90Km ऊचाई तक।

सम मंडल में वायुमंडल की निम्न परतो को शामिल किया जाता है।

1) क्षोभ मंडल (Troposphere)

  • सर्वाधिक गैसों का मिश्रण इसी मंडल में पाया जाता है।
  • सभी मौसमी क्रियाएं (जैसे - बादल का बनना) इसी मंडल में होता है

2) समताप मंडल (Stratosphere)

  • इसमें ओजोन गैस पाई जाती है इसलिए यहां पर तापमान घटने के स्थान पर बढ़ता है।
  • मोन्ट्रियल प्रोटोकोल - 1987 मे ओजोन परत संरक्षण हेतु कनाडा मे आयोजित हुआ।
  • हवाई जहाज के उड़ने के लिए यह सर्वश्रेष्ठ वातावरण है।

3) मध्य मंडल (Mesosphere)

  • यह वायुमंडल की सबसे ठंडी परत है उल्का पिंड की घटना इसी परत में होती है।

2) विषम मंडल - 90 से 10000Km ऊचाई तक

विषम मंडल वायुमंडल की निम्न परतो को शामिल किया जाता है।

1) आयनमंडल (ionosphere)

  • यह रेडियो तरंगों को परिवर्तित करता है जिससे दूरसंचार संभव हो पाता है।

2) वर्हीमंडल (Exosphere)

  • इस मंडल में कृत्रिम उपग्रह विचरण करते हैं।

No comments:

Post a Comment

Comment us